राम चरित मानस में विधि के शासन की अवधारणा

एस. एस. उपाध्याय

Abstract


सभ्य मानव समाज के सम्पूर्ण इतिहास पर दृष्टिपात करने से यह तथ्य सहज रूप से स्पष्ट होता है
कि व्यवस्थित व सभ्य मानव समाज एवं विधि के शासन की अवधारणा साथ-साथ अस्तित्व में आये हैं।

Keywords


उपनिषद, धर्म, दण्ड, समाज, मानव

Full Text:

PDF


DOI: https://doi.org/10.29320/jnpgvr.v10i01.11049

Refbacks

  • There are currently no refbacks.